Tulsi Mata ji ki Aarti

Tulsi Mata ji ki Aarti

आरती आरती पहली वृंदावन की आरती

सांवरे सोहे मात यशोदा दही बिलोए

मां यशोदा नंद दी रानी

खीर कटोरे गड़वे पानी

झोल झोल पीवे मेरी तुलसा रानी

शंख वजे घड़ियाल वजे

गोपियां दा गान वजे

आनो कुंजी खोलो द्वार

मेरा डीवडा स्वर्गद्वार

स्वर्गद्वार दा पानी मीठा

ठाकुर जी मैं अखि डिठा

आनी तुलसा मेरे नाल

तेरे सांगे होंओ पार

देवकी जाया देवका यशोदा जाया कानवले

मेरे घर आया श्री भगवान

मेरे घर आया गोपियां दा कान

मंग ले आरती कर ले आरती

जय तुलसा महारानी नमो नमो हर की पटरानी नमो नमो

डोडा कोडा आंवला

राई दामोदर सावला

राई दामोदर नित करा मैं

हर दी पैड़ी नित चढ़ा मैं

मेरे घर आया श्री भगवान

मेरे घर आया गोपियां दा कान

मनग ले आरती कर ले आरती

बोल वृंदावन बिहारी लाल की जय||

Scroll to Top